न खाये इस तरह का चिकन नहीं तो सेहत के लिए पड़ सकता है भारी

Bad Chicken meat
Bad Chicken meat

अगर यह कहा जाए कि चिकन भारत ही नहीं बल्कि दुनिया भर में सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाला मांस है तो गलत नहीं होगा। भारत में हर जगह उसका चिकन आसानी से उपलब्ध है, लेकिन क्या वह ठीक है? आसान शब्दों में कहें तो क्या हम चिकन का खराब मांस ( Bad Chicken meat  ) तो नहीं खरीद रहे जो न केवल पैसे की बर्बादी का कारण बनता है बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक साबित हो सकता है। लेकिन आप आसानी से खराब चिकन पहचान सकते हैं और खरीदने से पहले यह बात आपको अन्य नुकसान से बचा सकती है। निम्नलिखित लक्षणों को जानें जो पता होगा कि कच्चा चिकन खराब है या नहीं।

उसके रंग बदली हुई होंगे

अगर चिकन मांस गुलाबी की बजाय ग्रे हो या वसा वालों भागों में पीला रंग काफी हो तो इसका मतलब है कि यह मांस खाने के लिए खराब है और उसे न लेना ही बेहतर होगा। कच्चे चिकन हल्के गुलाबी रंग का हो तो अच्छा होता है जबकि वसा सफेद रंग की होनी चाहिए।

अलग तरह की गंध

खराब चिकन का एक संकेत यह है कि उससे उत्पन्न होने वाला गंध, अगर वह आम चिकन से हटकर कुछ मिठाई या गंदे अंडे जैसी हो तो उसे लेने का फैसला छोड़ दें।

मांस का लजलजा होना

आमतौर पर कच्चा चिकन नम तो होता है मगर लजलजा नहीं, अगर आपको मांस लजलजा लगे और धोने के बाद भी सुसज्जित दार या चिपचिपा रहे तो यह मांस खराब होने की निशानी है।

बहुत अधिक समय से रखा हुआ हो

इसका संबंध खरीद नहीं बल्कि अगर यह अपने फ्रिज में एक चार महीने से जमा देता हालत में रखा है तो अधिक संभावना यह है कि गुणवत्ता खराब हो चुका है, अगर आप इसके खराब होने का जरा सा भी अंदेशा है तो इसका इस्तेमाल न करें क्योंकि वह खाद्य पोएजिंग या गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल जैसी अन्य बीमारियों का कारण बन सकता है।

हर एक काम में आता ये जंगली फल तो जाने इन फलों के नाम और लाभ

इन मछलियों से रहे सवधान नही तो ये शरीर को पहुंचा सकती हैं नुकसान

एनर्जी पेय पदार्थ से रहे दूर नहीं तो हो सकती है ये जानलेवा बिमारी

 

Loading...
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.