सावधानः मिल्क प्रोडक्ट के नाम पर दून में बिक रहा जहर

Poison being sold in the name of milk products

Poison being sold in the name of milk products

छापेमारी में 700 किलों नकली पनीर व 100 किलों मावा बरामद

देहरादून। Poison being sold in the name of milk products प्रदेश की राजधानी में मिल्क प्रोडक्ट के नाम पर स्वीट प्वायजन बिक रहा है। यह कारोबार बेरोकटोक पिछले कई वर्षो से जारी है। जिससे मिलावट खोरों की चाॅदी कट रही है।

वहीं आमजन की सेहत पर इसका क्या असर पड़ रहा है इसे आसानी से समझा जा सकता है। रविवार को सूचना मिलने के बाद विजलेंस टीम ने तड़के छापेमारी कर 700 किलो नकली पनीर व 100 किलो नकली मावा बरामद किया है। जिससे डेरी वालों में हंड़कंप मचा रहा।

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में यूपी के रामपुर और अमरोहा से मिल्क प्रोडक्ट के नाम पर स्वीट प्वायजन भी जमकर बिक रहा है। खाद्य सुरक्षा की विजलेंस टीम सूचना पर प्रदेश की राजधानी देहरादून में तड़के छापेमारी की कार्रवाई की।

टीम ने 700 किलो नकली पनीर और 100 किलो नकली मावा पकड़ा है, जिसे आरोपी अमरोहा और रामपुर से देहरादून की डेरियों में बेच रहे थे। आरोपी सुभाष का कहना है कि वो पूरा सामान रामपुर से लेकर आता है और देहरादून की बड़ी डेरियों में बेचता है।

शहर में नकली मिल्क प्रोडक्ट पर विभाग की टीम लगातार कार्रवाई कर रही है। इसी के तहत रविवार को यहां अलग अलग इलाकों में छापेमारी की गई, जिसमें टीम को करीब 700 किलो नकली पनीर और 100 किलो नकली मावा मिला। इनका सैंपल लेकर टीम ने टेस्टिंग के लिए रुद्रपुर लैब भेज दिया है और नकली मावा-पनीर को नष्ट कर दिया।

जरा इसे भी पढ़े

तम्बाकू मुक्त उत्तराखंड के लिए पांच लाख लोग लेंगे शपथ
हाईवे पर मिला पशुपालन विभाग के कर्मचारी का शव
गुजरात से आए यात्रियों का पहला जत्था चारधाम यात्रा के लिए रवाना