त्रिवेन्द्र को नहीं बचाता तो जेल में होते: हरक

Trivendra would have been in jail

Trivendra would have been in jail

देहरादून। Trivendra would have been in jail उत्तराखंड के धामी सरकार में कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत का एक बड़ा बयान सामने आया है। बयान में हरक सिंह ने दावा किया है कि यदि वह ढेंचा मामले में त्रिवेंद्र सिंह रावत को नहीं बचाते तो उन्हें जेल हो जाती।

उन्होंने ये भी कहा कि तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत ने त्रिवेंद्र को जेल भेजने की पूरी तैयारी कर ली थी। हरक सिंह के इस बयान को लेकर उत्तराखंड के राजनीतिक गलियारों में हलचल मचना तय हैं। गौरतलब है कि हरक सिंह रावत अपनी साफगोई को लेकर पहले भी काफी चर्चित रहे हैं।

उत्तराखंड सरकार में मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि अब मेरे पास खोने को कुछ भी नहीं हैं, इसलिए मैं यह खुलासा कर रहा हूं। हरीश रावत त्रिवेंद्र को जेल भेजना चाहते थे उन्होंने ढेंचा बीज घोटाले में त्रिवेंद्र के खिलाफ फाइल भी बना ली थी।

उन्होंने कहा, “मैंने त्रिवेंद्र के पक्ष में दो पेज का पत्र भी लिखा था। तब हरीश मुझसे बोले कि तू सांप को दूध पिला रहा है। अगर मैंने उस दिन हरीश की बात सुनी होती तो त्रिवेंद्र पर मुकदमा होता और फिर कभी त्रिवेंद्र सीएम नहीं बन पाते।”

जरा इसे भी पढ़े

पेयजल विभाग अपने चहेतों को समायोजित कराने को तुगलकी फरमान पर आमादा : मोर्चा
मुख्यमंत्री ने नरेंद्रनगर और कोटद्वार में केंद्रीय विद्यालय की मंजूरी का किया अनुरोध
कांग्रेस मजबूत स्थिति में किसी के जाने से नही पड़ेगा फर्क : गोदियाल