केले को लेकर आश्चर्यजनक खुलासा यह असली नाम नहीं

Real name of banana
Real name of banana
Loading...

हो सकता है कि केले आप बरसों से एक केले के रूप ही उपयोग कर रहे हों, और इस बात पर विश्वास है कि उसे फल और सब्जी के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यदि आप ऐसा ही समझते हैं, तो ठीक ही समझते रहे हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि केले दरअसल वह नहीं है, जो आप नजर आ रहा है, यह वास्तव में ‘ब्लैकबेरी’ है !.

भारत से तुर्कमेनिस्तान तक अमरीका से ईरान तक फिलिस्तीन कश्मीर तक ऑस्ट्रेलिया से इंडोनेशिया तक लोग उसे एक केले के रूप में खाते और पहचानते हैं, लेकिन यह तकनीकी रूप से ‘बैरी’ की एक पीढ़ी है, जो खुशकिस्मती से केला बन गई ।

वेब अभिलेखागार में 1987 प्रकाशित में प्रकाशित होने वाले अमेरिकी महिला विद्वान जूलिया मार्टिन एक शोध थीसिस के अनुसार केले तकनीकी आधार बेरीज की पीढ़ी में से है। मौसम गर्मियों के फल शीर्षक से लिखे गए इस आर्टिकल में केले के कई प्रकार बताई गईं हैं, जिन्हें दुनिया भर में सब्जी और फल के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

10 ईसवी सदी तक यह यूरोप पहुंच चुका था

इस आर्टिकल में बताया गया है कि पहले पहल केला दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्र में हुआ, जिसके बाद यह उत्तरी ऑस्ट्रेलियाई क्षेत्र में पहुंचा, जिसके बाद यह तीन ई.पू. सदी में भूमध्य क्षेत्र में पहुंचा और 10 ईसवी सदी तक यह यूरोप पहुंच चुका था।

आर्टिकल में बताया गया है कि खाने के लायक 100 ग्राम केले में 65 ग्राम कैलोरी, 87 ग्राम प्रोटीन, 50 मिलीग्राम आयरन, 25 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और अन्य घटक शामिल होते हैं। इस आर्टिकल में बेरीज भी कई प्रकार के बताए गए हैं, जो बाद में समय के साथ अन्य फ्रुटस की शक्ल अख्तियार कर चुके हैं। आर्टिकल में बताया गया है कि केले में मौजूद हल्के काले नुमा दाग इस बात को दर्शाते हैं कि केले तकनीकी आधार बेरी ही है।

जरा इसे भी पढ़ें :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.