जानिए संजय दत्त अमेरिका से भारत क्यों नहीं लौटना चाहते थे

Sanjay dutt
जानिए Sanjay dutt अमेरिका से भारत क्यों नहीं लौटना चाहते थे
Loading...

बॉलीवुड के मुन्नाभाई गाने Sanjay dutt उर्फ संजू बाबा के जिंदगी में बहुत ही अप -डाउन रहे हैं। शुरुआती दौर से ही संजय अपनी नेगेटिविटी के कारण सुर्खियों में रहे हैं। कभी इन्हें नशेड़ी बोला जाता था, तो कभी इनका नाम अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम से जोड़ा गया, इन्हें सजा भी हुई। तो दोस्तों हम आज आपको बताने जा रहे हैं संजय दत्त से जुड़े एक सच्चाई उस वक़्त की जब संजय दत भारत लौटने पर बहुत  मलाल हुआ।

आखिर क्या कहानी थी हम आपको बता रहे हैं। एक दौर ऐसा था जब संजय दत्त ड्रग्स और नशे के भवर में इस तरह फस गए थे, किसी को उम्मीद नहीं थी कि वह इससे कभी निकल पाएंगे। उनके इस रवैया से उनकी मां नरगिस बहुत उक्त आ चुकी थी। पापा  सुनील दत्त को इसकी खबर मां नरगिस के मरने के बाद हुई।




घरवालों के दुखों को देखकर संजय ने ड्रग छोड़ने का फैसला किया, लेकिन यह इतना आसान नहीं था, फिर भी संजय जानते थे कि कोई काम असंभव नहीं है, इसलिए संजय दत्त इस जाल से मुक्ति पाने के लिए जर्मनी गए, यहां उन्होंने मेडिकल हेल्प ली लेकिन असर ना होने पर वह अमेरिका के एक हॉस्पिटल में एडमिट हो गए, फिर उन्हें रिहैबिलिटेशन भेजा गया।

Sanjay dutt with mother

यहां संजय को कई लोग मिले लेकिन बिल नाम का व्यक्ति उनका अच्छा दोस्त बन गया, वहां से डिस्चार्ज होने के बाद बिल उन्हें अपने घर ले गया जो टैक्सेस में था। यहां बिल के पिता एक पशु फार्म चलाते थे और विश्व भर में बीफ सप्लाई का काम करते थे। बिल संजय एक दूसरे से दूर नहीं जाना चाहते थे , इसलिए बिल ने संजय से बोला कि वह भारत ना जाए, यह दोनों भाई पापा का काम संभाल लेंगे और पैसे कमाएंगे।

जरा इसे भी पढ़ें : जानें अजय देवगन से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

Sanjay dutt अमेरिका में ही बस जाना चाहते थे

संजय कि भारत में निंदा हो रही थी, इसलिए वह इंडिया वापस नहीं आना चाहते थे। उन्होंने वही बस जाने का मन बना लिया, संजय ने पापा को फोन कर बताया कि वह वापस नहीं आना चाहते हैं, अमेरिका में ही व्यापार करेंगे अपने अकाउंट का पैसा भी उन्हें ट्रांसफर करने के लिए कहा। सुनील दत्त ने उन्हें बहुत समझाया लेकिन उनका मन अब उठ चुका था। सुनील दत्त ने संजय दत्त से कहा कि एक बार तो इंडिया आजा ,वरना लोगों को यही लगेगा कि तुम नशे की बीमारी की वजह से नहीं आ रहे हो। संजय दत्त वापस आने के लिए मान जाते हैं लेकिन 1 वर्ष की शर्त पर।



जरा इसे भी पढ़ें : इस अभिनेता की बहन ने कराया टॉपलेस फोटोशूट, सोशल मीडिया में मची सनसनी

इंडिया लौटने पर उनका ड्रग डीलर उनके लिए ड्रग्स लाता है तो Sanjay dutt उसे मना कर कहते हैं कि वह वहां कभी ना आए। स्ट्रगल अभी भी जारी रहता है क्योंकि कोई भी  निर्माता-डायरेक्टर के साथ फिल्म नहीं करना चाहता था। 8 महीने गुजर जाने के बाद प्रोड्यूसर पप्पू वर्मा उनके पास एक फिल्म का प्रपोजल और उसके साथ 1000000 रुपए लाते हैं। संजय पूछते हैं कि कितने वक्त में फिल्म कंप्लीट हो जाएगी? पप्पू दो-तीन महीने का समय बताते हैं।

फिल्म Jaan ki baazi दर्शकों को बहुत पसंद आई

jaan ki baazi

संजय फिल्म साइन कर 15000 ले कर पापा के लिए एक पेन और बहन के लिए गिफ्ट खरीदते हैं। यह फिल्म जिसकी हम बात कर रहे थे उसका नाम था “जान की बाजी” । यह रिलीज हुई और दर्शकों को बहुत पसंद भी है, जिससे संजय का हौसला बढ़ गया और संजय अमेरिका में रहने का प्लान कैंसिल कर देते हैं। संजय घूमने के उद्देश्य से अमेरिका में जाते हैं तो उन्हें  बिल मिलता है और उन्हें अपने रोल्स रॉयल से घुमाकर अपने प्राइवेट जेट से ले जाता हैं।



बिल  ने वहां एक बड़ा शानदार बंगला बनाया था , इसमें स्विमिंग पूल, हेलीकॉप्टर और 800 एकड़ में फैला खूबसूरत गार्डन था। इस दिन संजय बहुत पछताते हैं कि वह अमेरिका में रहते तो बहुत अमीर होते हैं। वह पछता कर दिल से बोल ही पड़ता है कि अगर मैं उस समय 5000000 रुपए इन्वेस्ट कर देता तो आज यह सब सिर्फ तुम्हारा नहीं, हम दोनों का होता। इस तरह संजय दत्त मलाल करते नजर आए थे और शायद संजय के अमेरिका में रहने से उनका नाम लास्ट में नहीं आता और उन्हें सजा नहीं होती।

जरा इसे भी पढ़ें : जाने क्यों पहनती हैं एक्ट्रेस साइज से बड़े फुटवियर
SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.