चामोली में बादल फटने से भारी तबाही

Late night cloudburst caused massive destruction

Late night cloudburst caused massive destruction

देहरादून। Late night cloudburst caused massive destruction शनिवार देर रात चामोली जिले के घाट में भारी बारिश के कारण धुर्मा गांव के सामने मोक्ष नदी के मुहाने पर बादल फट गया।

बादल फटने के कारण पूरे इलाके के लोग पानी से परेशान हैं। धुर्मा इंटर कॉलेज सहित कई आवासीय मकानों पर खतरा मंडरा रहा है। इसके साथ ही नदी का कटाव भी बढ़ गया है, जिसके कारण कई नालियां और कृषि भूमि भी बह गई।

जानकारी के अनुसार  शनिवार देर रात को चामोली जिले के घाट में भारी बारिश के कारण धुर्मा गांव के सामने मोक्ष नदी के मुहाने पर बादल फट गया। इससे पूरे इलाके में चीख पुकार मची हुई है।

बादल फटने के कारण पूरे इलाके के लोग पानी से परेशान हैं। धुर्मा इंटर कॉलेज सहित कई आवासीय मकानों पर खतरा मंडरा रहा है। इसके साथ ही नदी का कटाव भी बढ़ गया है, जिसके कारण कई नालियां और कृषि भूमि भी बह गई।बदरीनाथ हाइवे गोविंदघाट में अभी भी बंद है।

घांघरिया से तीर्थयात्री गोविंदघाट पहुच रहे

यहां लोक निर्माण विभाग और बीआरओ की जेसीबी हाइवे को खोलने में लगी हैं। घांघरिया से तीर्थयात्री गोविंदघाट पहुच रहे हैं। इसके चलते बदरीनाथ और हेमकुंड साहिब की यात्रा रुकी हुई है।

यात्रियों को वहां से निकालने के लिए बीआरओकी टीम गोविंदघाट में वैली ब्रिज लगाने की तैयारी कर रहा है। वहीं, गोविंदघाट गुरुद्वारे के पास आए मलबे को हटाने का काम भी अभी तक शुरू नहीं हुआ है।

बता दें कि इससे पहले शुक्रवार रात भी चमोली के गोविंदघाट और थराली के गुड़म गांव में व पिथौरागढ़ जिले के नाचनी क्षेत्र में बादल फटने के कारण भारी नुकसान हुआ था।

इस दौरान टीमटीया में एक घर का मकान ढह गया था, जिसमें राम सिंह धर्मशक्तू नामक एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। 

जरा इसे भी पढ़ें

राज्यमंत्री रेखा आर्य के पति की गिरफ्तारी पर रोक
एबीवीपी और बागी निर्दलीय प्रत्याशी के कार्यकर्ताओं में खूनी संघर्ष
स्मैक के साथ एक तस्कर को पुलिस ने दबोचा