केदारनाथ धाम के कपाट खुले, श्रद्धालुओं की संख्या ने तोड़ा रिकार्ड

Kedarnath Dham
केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के मौके पर राज्यपाल व विस अध्यक्ष।
Kedarnath Dham के कपाट खुले, श्रद्धालुओं की संख्या ने तोड़ा रिकार्ड

देहरादून। भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में शामिल Kedarnath Dham के कपाट रविवार की सुबह 6.10 बजे विधि-विधान के साथ खोल दिए गए। गर्भ गृह के कपाट 6 बजकर 15 मिनट पर खुले। केदारनाथ रावल के नेतृत्व में पुरोहितों ने गर्भ गृह में प्रवेश किया। इससे पूर्व तड़के चार बजे से पूजन शुरू हो गया था। इस शुभ घड़ी का गवाह बनने के लिए हजारों श्रद्धालु धाम पहुंचे हैं।

कपाटोद्घाटन के समय बाएं पट से उत्तराखंड के राज्यपाल केके पॉल और विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल ने सबसे पहले दर्शन किए। इसके बाद आम श्रद्धालुओं के लिए कपाट खुल गए। पहले ही दिन श्रद्धालुओं की संख्या ने रिकार्ड तोड़ा है। केदारनाथ आपदा के बाद पांच हजार से ज्यादा श्रद्धालु कपाट खुलने के अवसर के साक्षी बने हैं। तड़के से ही केदारनाथ धाम में बम-बम भोले और बाबा केदार के जयकारे गूंज रहे हैं।

रविवार को तड़के चार बजे मंदिर के कपाट खुलने की प्रक्रिया शुरू हुई। सबसे पहले बाबा केदार की चल विग्रह उत्सव डोली को मंदिर में प्रवेश कराया गया। इसके बाद रावल और पुजारियों ने मंदिर भीतर गए और धार्मिक अनुष्ठान शुरू किया। गर्भगृह में विधिवत पूजा-अर्चना शुरू हुई। रुद्राभिषेक, जलाभिषेक समेत सभी धार्मिक अनुष्ठान विविधत संपन्न कराने के बाद ठीक सवा छह बजे मंदिर के कपाट भक्तों के दर्शनार्थ खोल दिए गए।

Kedarnath Mandir पूरी तरह से श्रद्धालुओं के लिए तैयार

रुद्रप्रयाग के डीएम मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि केदारनाथ मंदिर पूरी तरह से श्रद्धालुओं के लिए तैयार है। केदारनाथ में ठहरने और सुरक्षा के मद्देनजर पुख्ता इंतजाम हैं। श्रद्धालु बेफिक्र यात्रा होकर भगवान केदारनाथ के दर्शन करने आएं।आपदा से केदारनाथ यात्रा प्रभावित हुई थी, लेकिन इस बार यात्रा को लेकर भारी उत्साह नजर आ रहा है।




बदरी-केदार मंदिर समिति के मुख्य कार्याधिकारी बीडी सिंह ने बताया कि 25 अप्रैल तक केदारनाथ के लिए एक लाख 10 हजार यात्री ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं। उन्होंने बताया कि कपाट खुलने के दिन केदारनाथ धाम में पांच हजार से ज्यादा श्रद्धालु पहुंचे हैं। 2013 की आपदा के बाद यह पहला मौका है जब कपाट खुलने के दिन इतनी संख्या में यात्री केदारनाथ पहुचे। उन्होंने बताया कि दुनिया में सुरक्षित चारधाम यात्रा का संदेश गया है। इससे श्रद्धालुओं की संख्या में वृद्धि हो रही है।

जरा इसे भी पढ़ें :
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here