क्या आप जानते हैं लैंडिंग के समय विमान की रोशनी कम क्यों होती हैं?

Aircraft take off or landing
Aircraft take off or landing

यदि आप हवाई यात्रा करने का मौका मिला हो या अक्सर करते हैं तो एक बात गौर करने वाली होती है और वह यह कि विमान टेकऑफ या लैंडिंग ( Aircraft take off or landing ) के समय रोशनी मंद हो जाती है।

यह वह चीज है जिसने समय से हवाई यात्रा करने वाले लोगों को उलझन में डाल रखा है कि आखिर ऐसा क्यों होता है। कुछ लोगों को लगता है कि यह सोने के लिए अच्छा समय है लेकिन ऐसा होने पर आप मानसिक रूप से अधिक सजग होने की आवश्यकता है।

अगर आपको भी इस सवाल सताता है तो उसकी वजह पर्याप्त आश्चर्यजनक और भयभीत कर देने वाली है। वास्तव मेंए यह परंपरा यात्रियों की सुरक्षा के लिए अपनाई गई है। इसके पीछे यह विचार है कि रोशनी मंद करके यात्रियों को आँखें इर्द गिर्द वातावरण के प्रकाश मैच में मदद मिल सके।

फलस्वरूप यात्रियों की आँखें अंधेरे से जल्द संगतता में मदद करता है और ऐसा इसलिए किया जाता है कि किसी आपात स्थिति में त्वरित सूचिकाभरण की जरूरत हो। एक रिपोर्ट के अनुसार यदि यात्री का केबिन बहुत उज्ज्वल हो लेकिन अचानक अंधेरे करके आप कहा जाए कि जल्दी से बाहर निकल जाए तो ऐसा संभव नहीं होगा।

इसी तरह यात्रियों को किसी कठिन समय में अपने इर्द गिर्द के माहौल को देखना और निकलना आसान हो जाता हैए जबकि रोशनी मंद न करने पर एक कठिन समय में अधिक गंभीर नतीजे हो सकते हैं।

जरा इसे भी पढ़ें
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.