अग्निपथ योजना सैन्य परंपरा के खिलाफ : कांग्रेस

Agneepath scheme against military tradition
विधायक भुवन कापड़ी और सुमित हृदयेश।

Agneepath scheme against military tradition

देहरादून। Agneepath scheme against military tradition सेना में युवाओं को अल्पकालिक नौकरी देने के लिए केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहा है। वहीं कांग्रेस के कई नेताओं ने भी इस योजना का विरोध किया है।

कांग्रेस नेता भुवन कापड़ी और विधायक सुमित हृदयेश ने कहा कि जब प्रदेश के युवाओं ने अग्निपथ योजना का विरोध किया तो सरकार ने तानाशाही रवैया अपनाते हुए हल्द्वानी में प्रदर्शन कर रहे युवाओं पर लाठीचार्ज किया।

भुवन कापड़ी ने आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस प्रदर्शन कर रहे युवाओं को धमका रही है और उनके खिलाफ धारा-144 के उल्लंघन का मुकदमा दर्ज कर रही है। उन्होंने कहा अग्निपथ योजना से देश की सुरक्षा को खतरा है।

हल्द्वानी विधायक सुमित हृदयेश ने कहा कि पूरे देश में अग्निपथ योजना को लेकर युवाओं में आक्रोश है। जो बच्चे वर्षों से सेना में जाने का सपना पूरा करने के लिए जी-तोड़ मेहनत कर रहे हैं, ये योजना उनके सपनों को तोड़ने का काम कर रही है।

युवाओं को अग्निपथ पर चलाकर उनके धैर्य की अग्निपरीक्षा नहीं लें : Sumit

हल्द्वानी में हुए लाठीचार्ज पर बोलते हुए समित हृदयेश ने कहा कि इस घटना के बाद मुख्यमंत्री को यह कहने का हक नहीं कि वो सैन्य परिवार से आते हैं। इधर कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया कि वे बेरोजगार युवाओं की आवाज सुनें और युवाओं को अग्निपथ पर चलाकर उनके धैर्य की अग्निपरीक्षा नहीं लें। दूसरी ओर वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने कहा है कि ‘अग्निपथ’ योजना विवादास्पद है।

उन्होंने कहा कि इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि इस योजना के तहत भर्ती किए गए सैनिक बेहतर प्रशिक्षित और प्रेरित होंगे। हमने सेवानिवृत्त रक्षा अधिकारियों के विचार पढ़े और सुने हैं, लगभग सर्वसम्मति से उन्होंने इसका विरोध किया है।

जरा इसे भी पढ़े

उत्तराखंड के तीन नगर निगमों के अधिकारियों को पेनल्टी नोटिस
मानसखण्ड कॉरिडोर के संबंध में सीएम ने ली बैठक
रेडक्रॉस सोसायटी के पदाधिकारियों ने राज्यपाल से की मुलाकात