टिहरी लोकसभा सीट पर घमासान, कांग्रेस के अंदर कड़ा मुकाबला

Tehri lok sabha seat
Tehri lok sabha seat

देहरादून। Tehri lok sabha seat टिहरी लोकसभा सीट पर कांग्रेस का उम्मीदवार कौन होगा, यह बड़ा सवाल है। दरअसल यहां से टिकट की दावेदारी दोनों ही पूर्व और वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष कर रहे हैं। लेकिन दोनों ही अपना भविष्य राष्ट्रीय अध्यक्ष के फैसले पर छोड़ रहे हैं।

बता दें कि उत्तराखंड की 5 लोकसभा सीटों पर कांग्रेस के उम्मीदवार तय होने में अभी वक्त है। पर, अटकलों का बाजार गर्म है कि टिहरी सीट पर चुनाव के पहले कांग्रेस के अंदर कड़ा मुकाबला है और टिकट की दावेदारी की टक्कर पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय और मौजूदा अध्यक्ष प्रीतम सिंह के बीच है।

Tehri lok sabha seat

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह का कहना है कि अगर राहुल गांधी कहेंगे तब अलग बात होगी। लेकिन अभी कोई भी व्यक्ति ऐसा नहीं कह सकता है कि वह प्रत्याशी है। उन्होंने कहा कि आवेदन करना और कुछ बात कहना बिल्कुल अलग विषय है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में यह सब होता ही है।

उम्मीदवार को जिताने का प्रयास करेंगे

वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय का कहना है कि अगर पार्टी उचित समझेगी और राहुल गांधी कहेंगे तो वे कोशिश करेंगे कि टिहरी से चुनाव लड़ कर जीत दर्ज करें। लेकिन उन्होंने साथ में यह भी कहा कि अगर पार्टी ने कहा कि उम्मीदवार का चयन कर लिया गया है तब वे एक कार्यकर्ता के रूप में उस उम्मीदवार के लिए चुनाव प्रचार कर उसे जिताने का प्रयास करेंगे।

2017 में 11 सीटों पर कांग्रेस के सिमटने के बाद किशोर उपाध्याय की कुर्सी चली गई थी। वर्तमाम प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह और उनकी टीम के साथ किशोर उपाध्याय के समीकरण फीट नहीं बैठ रहे हैं। ऐसे में जहां किशोर उपाध्याय टिहरी से टिकट को सक्रिय राजनीति में एक मौके के तौर पर देख रहे हैं तो वहीं प्रीतम सिंह भी टिहरी से हाथ आजमाने का मौका नहीं छोड़ना चाहते हैं। लेकिन टिकट किसे दिया जाए, यह हाईकमान को तय करना है।

हमारे सारी न्यूजे देखने के लिए नीचे यूट्यूब बटन पर क्लिक करें

जरा यह भी पढ़े
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.