जी भर जिया, मैं मन से मरूं, लौटकर आऊंगा, कूच से क्यों डरूं

Former Prime Minister Atal Bihari Vajpayee died
Former Prime Minister Atal Bihari Vajpayee died

नई दिल्ली। भारत रत्न एवं तीन बार प्रधानमंत्री रहे अटल बिहारी वाजपेयी का आज शाम पांच बजे देश की राजधानी दिल्ली के एम्स में निधन ( Former Prime Minister Atal Bihari Vajpayee died ) हो गया। वह 93 वर्ष के थे। अटल जी पिछले 2 महीने से एम्स में भर्ती थे। लेकिन, बीते 36 घंटों में उनकी सेहत नाजुक हो गई थी। इससे पहले वह नौ वर्ष से बीमार चल रहे थे।

वह जीवित तो थे, लेकिन होकर भी नहीं जैसे। अटल जी किसी से बात नहीं करते थे। जिनके भाषण के कायल विरोधी भी थे और चुपके से सभा में जाते थे, उसी उसी महान आत्मा ने ऐसे थे जैसे उन्होंने मौन व्रत रखा था।

पिछले 30 साल से अटल जी का इलाज एम्स में चल रहा था। उनकी एक किडनी खराब हो चुकी थी और सिर्फ एक किडनी काम कर रही थी। पूर्व प्रधानमंत्री को श्रद्धांजलि देते हुये पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुये कहा कि ‘‘ मैं निः शब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन मेरे अंदर भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है। हम सभी के प्रेरक अटल जी अब हमारे बीच नहीं रहे। उनका जाना एक युग का अंत है।

उन्होंने अटल की एक कवित का जिक्र करते हुये ट्वीट किया ‘‘ मौत की उमर क्या है? दो पल भी नहीं, जिंदगी सिलसिला, आज कल का नहीं। मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं, लौटकर आऊंगा, कूच से क्यों डरूं?

यह नेता मिलने आये

दो दिन में प्रधानमंत्री के अलावा उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, सुमित्रा महाजन, वसुंधरा राजे, स्मृति ईरानी, सुरेश प्रभु, जेपी नड्डा, शिवराज सिंह चौहान, रामविलास पासवान, डॉ. हर्षवर्धन, जितेंद्र सिंह, अश्वनी कुमार चैबे, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, बसपा प्रमुख मायावती और अमर सिंह भी उन्हे देखने एम्स पहुंचे।

जरा इसे भी पढ़ें :
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.